ख़बरी दोस्त

इन हवाईअड्डो से उड़ान भरना चाहोंगे आप

5-Apr-17 02:24इन हवाईअड्डो से उड़ान भरना चाहोंगे आप
इन हवाईअड्डो से उड़ान भरना चाहोंगे आप

किसी परिंदे को उड़ता देख हमारे मन में भी उड़ने की ख्वाहिश पैदा होती है। इसी खावाहिश को पूरा करने के लिए इंसानों ने पहले हवाई जहाज का निर्माण किया और फिर इसका व्यवसायीकरण होने पर जगह-जगह हवाई अड्डे अस्तित्व में आए। हवा में उड़ने का इंसानी जुनून इस कदर छाया कि हमने विश्व के ऐसे इलाकों में हवाई अड्डे बनाकर अपनी पहुंच बना ली है जहाँ उड़ान भरने की शायद आप सोच भी नही सकते है। आज हम कुछ ऐसे हवाई अड्डे दिखाने जा रहे हैं जिन्हें आप देखकर हैरान हो जाएंगे।

1. जिब्राल्टर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा, जिब्राल्टर

यह नज़ारा बेहद ख़ूबसूरत लग रहा है तो इसके बारे जान लीजिये कि यह तो अभी आपके सफर की शुरुआत मात्र है। यह हवाई अड्डा केवल दिखने में ही खूबसूरत है। इसका असली चेहरा तो आपको यहाँ से उड़ान भरने वाले पायलट ही बता पाएंगे। इस हवाई पट्टी के एक तरफ मेडिटेरेनियन सागर एवं दूसरी तरफ खतरनाक गिब्राल्टर की खाड़ी मौजूद है।

सिर्फ पानी नहीं है एकलौता ख़तरा

इस हवाई अड्डे के लिए पानी ही एक खतरा है तो अब आप इस तस्वीर को देखिये। इस हवाई अड्डे में मात्र 6100 फ़ीट लम्बी हवाई पट्टी है। इतना ही नहीं, यह हवाई अड्डा पेनिनसुला के व्यस्ततम एवं घनी आबादी वाले क्षेत्र में स्थित है। शायद इसी कारण से इस हवाई अड्डे से प्रतिदिन केवल 3 हवाई जहाज़ ही उड़ान भरते हैं।

2. प्रिंसेस जुलियाना हवाई अड्डा, मार्टेन

कैरेबियाई द्वीप समूह में स्थित सेंट मार्टेन का महो बीच अपने आप में ही बेहद ख़ास है। वैसे तो यह बीच 'सनबाथ' लेने वालों के लिए जन्नत मानी जाती है। परंतु यदि आप रोमांच पसंद इंसान हैं तो यह जगह आपको भी निराश नहीं करेगी। दरअसल इस बीच से सटा हुआ है प्रिंसेस जुलियाना हवाई अड्डा। जब इस हवाई अड्डे से जहाज उड़ान भरते हैं तो बीच में खड़े लोगों से इनका फासला महज कुछ हाथ भर का होता है।

3. हेची हवाईअड्डा, चीन

चीन में स्थित यह हवाई पट्टी समुद्र तल से 2200 फ़ीट की ऊँचाई में 65 खूबसूरत पर्वतों के ऊपर स्थित है। इस हवाई अड्डे के बारे में पढ़कर आपको इसकी खूबसूरती का अंदाज़ा तो हो गया है, परंतु यह जितना खूबसूरत है उतना ही चुनौतीभरा भी है। इस हवाई पट्टी की चौड़ाई महज इतनी ही है जिसमें एक समय में अधिकतम केवल 3 जहाज़ ही रुक सकते हैं।

4. टोंकतीन अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा, होंडुरस

इस हवाई अड्डे को दुनिया का दूसरा सबसे व्यस्त हवाई अड्डे का नाम दिया गया है। दुनिया की सबसे छोटी हवाई पट्टी समेत इसमें पायलट को कई अन्य चुनौतियों का सामना भी करना पड़ता है।

होती रहती है दुर्घटनायें

वैसे तो इस हवाई पट्टी से उड़ान भरते वक़्त पायलट काफी सावधानी बरतते हुए काम करते हैं। परंतु कुछ दफा यहाँ दुर्घटनाएं भी होती रहती हैं। साल 2008 में ऐसी ही एक दुर्घटना में 5 मासूम यात्रियों को अपनी जान गँवानी पड़ी थी।

5. जुआंचो ए रसक्विन हवाईअड्डा, साबा

तीन ओर से पहाड़ों से घिरे होने के बाद एक ओर से खाड़ी, यह नज़ारा है साबा के इस हवाई अड्डे का। इसके नाम दुनिया की सबसे छोटी हवाई पट्टी होने का रिकॉर्ड भी है। 1300 फ़ीट लम्बी इस हवाई पट्टी में जेट एयरप्लेन को उतरने की अनुमति नहीं है, केवल छोटे हवाई जहाज ही इसमें सफलतापूर्वक उतर सकते हैं।

6. बर्रा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा, स्कॉटलैंड

एक हवाई अड्डा नहीं बल्कि एक बीच है। इसमें छोटे हवाई जहाज़ों को भी सफलतापूर्वक उतरने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ती है। इतना ही नहीं, ऊँची लहरों के समय यह हवाई अड्डा पानी में डूब जाता है।

यह कहता है इसका साइन बोर्ड

इस हवाई अड्डे के सामने लगे साइन बोर्ड में साफ़ तौर पर लिखा हुआ है कि जब बीच का इस्तेमाल हवाई अड्डे के तौर पर किया जा रहा हो तब इसके करीब ना जाएं।

7. कांगोन्हास हवाई अड्डा, साओ पाउलो, ब्राज़ील

साओ पाउलो स्थित यह हवाई अड्डा बेहद घनी आबादी वाले क्षेत्र में स्थित है। यहाँ से हवाई जहाज संचालित करने के लिए पायलट में बेहद संयम एवं कुशलता होनी अत्यंत आवश्यक है।

यहाँ हुआ था यह जानलेवा हादसा

साल 2007 में बारिश के कारण भीगी हुई हवाई पट्टी में फिसलने की वजह से एयरबस 320 अनियंत्रित होकर सड़कों में जा पहुँचा था। इस दुर्घटना में हवाई जहाज में सवार सभी 186 यात्रियों एवं क्रू के सदस्यों की मौत हो गई थी।

8. तेनज़िंग-हिलेरी हवाई अड्डा, नेपाल

हिमालय की खूबसूरत वादियों में स्थित यह हवाई पट्टी भी अपने आप में बेहद चुनौतीपूर्ण है। इस हवाई अड्डे का नाम एवरेस्ट की चोटियों को सबसे पहले फतह करने वाले मशहूर पर्वतारोही सर एडमंड हिलेरी एवं तेनजिंग नॉर्वे के ऊपर रखा गया है।

एवरेस्ट फतह करने के सपने देखने वालों की है यह मंज़िल

यदि आप नेपाल का प्रोग्राम माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई करने के लिए बना रहे हैं तो हम आपको बता दें कि यह हवाई अड्डा एवरेस्ट फतह के लिए बने बेस कैंप के पास मौजूद है। हिमालय की गोद में 9000 फ़ीट की ऊंचाई पर बना यह हवाई अड्डा आपको रोमांच की एक अलग अनुभूति करवाएगा।

9. रैगन राष्ट्रीय हवाई अड्डा, वाशिंगटन डी.सी.

अमेरिका की राजधानी वाशिंगटन डी.सी. वैसे तो काफी अच्छी तरह से बसे हुए शहरों में से एक है। अब आप सोच रहे होंगे कि फिर ऐसी कौन सी वजह है जिसने यहाँ के हवाई अड्डे को 'वर्ल्ड मोस्ट एक्सट्रीम' में खड़ा किया। दरअसल वाशिंगटन डी.सी. के ऊपर 18,000 फ़ीट की ऊँचाई तक हवाई यातायात पर प्रतिबन्ध लगा हुआ है। इस वजह से इस हवाई अड्डे पर उतरने के लिए हवाई जहाज़ों को पोटोमैक नदी के ऊपर बेहद करीब से गुजरना पड़ता है।

इसलिए है खतरनाक

नदी के ऊपर हवाई जहाज उड़ाने में अब यहाँ के पायलट को दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ता है। मुख्य दिक्कत तब सामने आती है जब हवाई जहाज को 30 से 40 डिग्री के तीखे मोड़ लेने होते हैं। यहाँ सफर करने वाले यात्रियों के लिए यह अनुभव बेहद डरावना होता है।

10. काई-ताक हवाई अड्डा, हॉन्ग-कॉन्ग

इस हवाई अड्डे को 'काई-ताक हार्ट अटैक' भी कहा जा सकता है। वैसे तो ऊपर की तस्वीर अपने आप में सब कुछ बयां करती हुई दिख रही है। परंतु फिर भी हम आपको बता दें कि ऊँची-ऊँची इमारतों के बीच इतनी नीची ऊँचाई में उड़ान भरना किसी खतरनाक चुनौती से कम नहीं हुआ करता था। वैसे अब तो इस हवाई अड्डे को बंद कर दिया गया है और इसकी जगह हॉन्ग-कॉन्ग अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे नें ले ली है।

11. कॉरशेवाल हवाई अड्डा, फ्रांस

हिस्ट्री चैनल के द्वारा इस हवाई अड्डे को दुनिया का 7 वां सबसे खतरनाक हवाई अड्डा घोषित किया है। 537 मीटर की छोटी हवाई पट्टी के साथ ही घने कोहरे एवं बर्फ की चादर यहाँ से उड़ान भरने वाले पायलट्स को काफी परेशान करती है।

मुश्किलों का अंदाज़ा लगा सकते हैं आप

इस हवाई पट्टी में प्लेन्स का संचालन कर पाना कितना मुश्किल है।

12. स्वालबार्ड हवाई अड्डा, नॉर्वे

इस हवाई अड्डे को दुनिया के सबसे खतरनाक एवं जोखिम भरे हवाई अड्डों की फेहरिस्त में शामिल करने की वजह इसकी भौगोलिक स्थिति है। इस जगह में बेहद तेजी से मौसम में बदलाव दर्ज किये जाते हैं जिससे किसी भी पायलट के लिए यहाँ उड़ान भरना एक चुनौती साबित होती है। इस जगह में कई छोटे विमान दुर्घटनाग्रस्त हो चुके हैं।




संबंधित पोस्ट