ख़बरी दोस्त

इस गाँव के लोग रहते एक देश में हैं और काम दूसरे देश में करते हैं

5-Apr-17 07:03इस गाँव के लोग रहते एक देश में हैं और काम दूसरे देश में करते हैं
इस गाँव के लोग रहते एक देश में हैं और काम दूसरे देश में करते हैं

दुनिया में कई देशों के बॉर्डर ऐसे बने हुए हैं जहाँ आप आसानी से बॉर्डर क्रॉस कर सकते हो। ऐसा ही एक गाँव हम यहाँ दिखा रहे हैं जहाँ के लोग एक देश में रहते हैं लेकिन दूसरे देश में जाकर काम करते हैं। यह जगह किसी और देश में नहीं बल्कि अपने देश भारत में ही है। इस गाँव का नाम है लुंगवा गांव जोकि नागालैंड में है और यह भारत-म्यांमार की सीमा पर स्थित है।

 

इस गाँव के कुछ घर भारत में हैं और कुछ घर म्यामांर में हैं

 

गाँव के बायीं तरफ भारत है और दूसरी तरफ म्यांमार है

यह एक ऐसा गांव भी हैं जहां रहने वाले लोगों को दूसरे शहर में घूमने के लिए वीज़ा की ज़रूरत नहीं पड़ती। इस गांव के बायीं तरफ भारत है और दायीं तरफ म्यांमार हैं।

 

इसी वजह से यहाँ के लोग रहते एक देश में हैं और काम दूसरे देश में करते हैं

 

यहाँ रहने वाले लोगों के पास दोनों देशों की नागरिकता है

Konyak आदिवासी जो यहां रहते हैं। उनके पास दोनों देशों की नागरिकता है। Konyak जनजाति नागालैंड की आधिकारिक तौर पर मान्यता रखने वाली 16 जनजातियों में से एक हैं।

 

Konyaks को Headhunters भी बोला जाता है

konyak को 'हेडहंटर्स' के नाम से जाना जाता था क्योंकि यह लड़ाई में अपने दुश्मन के सर काट देते थे।

 

यह गाँव भले ही दो गुटों में बंटा हुआ है लेकिन यहाँ के लोगों में काफी एकता है

 

 




संबंधित पोस्ट