ख़बरी दोस्त

योगी ने किया लखनऊ मेट्रो का इनॉगरेशन

5-Sep-17 15:31योगी ने किया लखनऊ मेट्रो का इनॉगरेशन
योगी ने किया लखनऊ मेट्रो का इनॉगरेशन

यहाँ मेट्रो ट्रेन सर्विस की शुरुआत हो गई है। मंगलवार यानी आज योगी आदित्यानाथ ने बटन दबाकर ट्रेन को खाना किया आम लोगों के लिए मेट्रो की सर्विस बुश्वार से शुरू हो जायगी।  इस मौके पर योगी ने कहा कि यूपी में मेट्रो कार्पोशन का गठन किया जाएगा। जो प्रदेश में अलग-अलग जगह पर मेट्रो के लिए काम करेगा। राजनाथ सिंह ने कहा कि वे इस मेट्रो सर्विस को अटल बिहारी वाजपेयी को समर्पित कर रहे हैं। इससे पहले अखिलेश यादव ने सोशल मिडिया पर पुरानी तस्वीर ट्वीट की और लिखा- इंजन तो पहले ही चल दिया था, डिब्बे तो पीछे आने ही थे। इस मौके पर राजनाथ सिंह ने कहा मैं ये मानता हूँ कि आज का ये दिन पूरे यूपी के लिए ऐतिहासिक है। अब नवाबों का शहर लखनऊ मेट्रो के शहर के रूप में भी जाना जाएगा। उन्होंने कहा मेट्रो का सबसे बड़ा फायदाइ है कि चारबाग स्टेशन पर चार-चार ट्रैक बिछाए जाएंगे और 2 नए प्लेटफॉर्म भी बनाए जाएंगे। गोमती नगर रेलवे स्टेशन पर 6 नए प्लेटफॉर्म बनेंगे। नई गाड़ियां यहां से भी चलेंगी। ट्रैफिक कंजेशन कम करने के लिए 7 नए फ्लाई ओवर बनाए जाएंगे।

राज्यपाल राम नाइक ने कहा, "मैं मेट्रो के लिए बधाई देता हूं। ये काम समय से पूरा हो गया। कोई भी सरकारी प्रोजेक्ट में दो दोष दिखाई देते हैं। एक समय से पूरा न होना दूसरा लगात में पूरा न होना। ये दोनों ही बातें यहां नहीं हैं। इसका क्रेडिट भारत सरकार को है। साथ ही ई. श्रीधरन को भी इसका क्रेडिट देता हूं। मेरे लिए श्रीधन 'मेट्रो मैन' नहीं हैं वे 'मेट्रो गुरु' हैं।

 

कार्यक्रम में मौजूद मेट्रोमैन ई. श्रीधरन ने कहा, ''इस अवसर पर मैं लखनऊ की जनता से अनुरोध करना चाहूंगा कि वो इसकी देखभाल करें और अनुशासन के साथ इसका उपयोग करें। इस प्रोजेक्ट को इतनी तेजी से पूरा करने के लिए मैं हार्दिक धन्यवाद दे रहा हूं।

 

मेट्रो के इनॉगरेशन से पहले अखि‍लेश यादव ने सोशल मीडिया पर पुरानी तस्वीर ट्वीट की और लिखा- इंजन तो पहले ही चल दिया था, डिब्बे तो पीछे आने ही थे। बता दें कि अखिलेश यादव ने 1 दिसंबर 2016 को मेट्रो को हरी झंडी दिखाई थी, मुलायम सिंह यादव ने रिबन काटा था। इससे पहले अखिलेश ने शनिवार (2 सितंबर) को भी सोशल मीडिया में एक तस्वीर साझा की थी। इस तस्वीर में वे लखनऊ मेट्रो के ऑफिस में नजर आ रहे हैं। ये तस्वीर तब की है जब वे यूपी के सीएम थे। उन्होंने इस तस्वीर के साथ कैप्शन लिखा था, "समाजवादियों की बनाई बेहतरीन मेट्रो में बैठने से पहले, लखनऊ की सड़कों पर घूम रहे पांच हजार लावारिस जानवरों के पालन पोषण का इंतजाम करे सरकार।
 
लखनऊ मेट्रो पूर्व सीएम अखिलेश यादव के ड्रीम प्रोजेक्ट में शामिल था। उन्होंने मेट्रो की शुरुआत 2013 में की थी, लेकिन इस काम ने रफ्तार 2014 में पकड़ी। 3 साल के में इसके ट्रैक का काम पूरा कर लिया गया।
 
लखनऊ मेट्रो रोजाना सुबह 6 बजे से रात 10 बजे तक चलेगी, कुल साढ़े 8 किलोमीटर की दूरी तय करेगी। इस दूरी में कुल 8 स्टेशन हैं। इसका एवरेज हर एक किलोमीटर पर एक मेट्रो स्टेशन है। इसमें टांसपेार्ट नगर, कृष्णा नगर, सिंगार नगर, आलमबाग, आलमबाग बस स्टैंड, मवैया, दुर्गापुरी और चारबाग स्टेशन शामिल हैं।
 
लखनऊ की पहली मेट्रो ट्रेन पर चार लोको पायलट रहेंगे। इनमें से दो महिला हैं। इस मेट्रो को पूजा, प्रियंका, अमन और निखिल चलाएंगे।
 
लखनऊ में मेट्रो के 4 रूट तैयार हो रहे
अमौसी से कुर्सी रोड।
बड़ा इमामबाड़ा से सुल्तानपुर रोड।
पीजीआई से राजाजीपुरम।
हजरतगंज से फैजाबाद रोड तक मेट्रो को जोड़ा जाएगा।
मेट्रो के एक इंजीनियर ने बताया कि साढ़े 8 किमी के ट्रैक पर करीब 2 हजार करोड़ रुपए खर्च हुए। लखनऊ मेट्रो को बनाने में 4 हजार मजदूर, 790 दिन और 2 करोड़ 53 लाख 16 हजार रुपए रोजाना खर्च लगा है।
 




संबंधित पोस्ट