ख़बरी दोस्त

टूटा तारा गिरने से बनी झील

5-Apr-17 15:09टूटा तारा गिरने से बनी झील
टूटा तारा गिरने से बनी झीलआसमान में टूटता हुआ तारा तो आपने देखा ही होगा लेकिन आपने कभी सोचा है कि ये टूट कर कहाँ गिरते हैं और इनका क्या होता होगा, पृथ्वी की कक्षा में आते ही अधिकांश तो घर्षण से जल कर खत्म हो जाते हैं आपने देखा होगा टूटे हुए तारे बस कुछ ही सेकंड्स के लिए दिखते हैं उसके बाद गायब हो जाते हैं लेकिन कुछ तारे या उल्का पिण्ड जो बहुत बड़े होते हैं वह समाप्त नहीं होते और पृथ्वी से टकरा जाते हैं ऐसे ही एक उल्का पिण्ड के पृथ्वी से टकराने के कारण झील का निर्माण हुआ था इसका नाम है लोनार झील ये महाराष्ट्र के बुलढाणा जिले में स्थित एक खारे पानी की झील है

मुम्बई से 470 km दूर बुलढाणा में है यह खारे पानी की झील

lonar-lake-1

लोनार झील की गहराई लगभग 5 सौ मीटर है वैज्ञानिकों के अनुसार क़रीब दस लाख टन का उल्का पिंड यहां गिरा होगा

lonar-lake-2

यह झील समुद्र तल की सतह से 1,200 मीटर ऊँची  है इसका व्यास लगभग 2 किलोमीटर का है

lonar-lake-3

वैज्ञानिक अब भी शोध कर रहे हैं कि झील का निर्माण उल्का पिण्ड से हुआ था या कोई ग्रह पृथ्वी से टकराया था

lonar-lake-5

यह सुन्दर झीलों में से एक है यहाँ लोग घूमने भी आते हैं

lonar-lake-4

NASA का कहना है कि बेसाल्टिक चट्टानों से बनी यह झील बिलकुल वैसी ही है जैसी मंगल ग्रह पर पाई जाती हैं

lonar-lake-6



संबंधित पोस्ट