ख़बरी दोस्त

भारत के इस गाँव में भारतीयों के लिए ही है नो एंट्री

5-Apr-17 03:00भारत के इस गाँव में भारतीयों के लिए ही है नो एंट्री
भारत के इस गाँव में भारतीयों के लिए ही है नो एंट्री

भारत में कई ऐसी खूबसूरत जगह हैं जहाँ लोग देश-विदेश से आते हैं और उन खूबसूरत जगहों का भरपूर आनंद लेते हैं। आज जो हम यहाँ बता रहे हैं वो शायद आपको झूठ लगेगा लेकिन यह बिलकुल सच है। भारत के राज्य हिमाचल प्रदेश में एक ऐसा गाँव है जहाँ भारत के लोगों को ही कमरा नहीं मिलता। इस गाँव का नाम है 'कंसोल'। इस गांव में भारतीयों के लिए ही प्रवेश निषेध है। इस गांव में इजरायली पर्यटक सबसे अधिक आते हैं।

 

यहाँ घूमने के लिए तो हर देश से लोग आते हैं लेकिन इजरायली पर्यटक सबसे अधिक आते हैं। ऐसा नहीं है कि यहाँ इजरायलियों ने कब्जा कर रखा है। दरअसल, यहां भारतीयों ने ही अपने व्यवसाय को बढ़ाने के लिए भारतीयों के प्रवेश पर ही पाबंदी लगा रखी है। यहां के व्यवसायी मानते हैं कि अधिकतर इजरायली महिलाएं और पुरुष एकान्त चाहते हैं। यही कारण है कि कोई भारतीय पर्यटक भी अगर यहां आ भी जाता है तो स्थानीय होटल, कैफे उन्हें ठहरने नहीं देते।

 

पूरी तरह इजरायली रंग में बसा है यह गाँव

इस गाँव में यहाँ हर जगह इजरायल के झंडे, भाषा दिख जाएंगे। यहां के होटलों में हिब्रू भाषा का प्रयोग किया जाता है। ऐसा नही है कि यहां दूसरे देश से लोग पर्यटन के लिहाज नहीं आते। नई दिल्ली से अपने ब्रिटिश दोस्त स्टीफन के साथ आई रितिका सिंह बताती हैं कि पर स्टीफन को कसोल के कैफे में जगह मिल गई, लेकिन रितिका को यहां प्रवेश नहीं मिल सका।

 

कहा जाता है कि ऐसा नहीं है कि यहां के कैफे, होटल मालिक भारतीयों से प्यार नहीं करते हैं। इन्होंने अपने व्यवसाय बढाने के लिए ऐसा रवैया अपना रखा है।




संबंधित पोस्ट