ख़बरी दोस्त

इंसानों और दूसरे जीवों को दुनिया कितनी अलग दिखाई देती है

23-May-17 18:25इंसानों और दूसरे जीवों को दुनिया कितनी अलग दिखाई देती है
इंसानों और दूसरे जीवों को दुनिया कितनी अलग दिखाई देती है

इंसान की आँख बहुत कुछ देख सकती है और बहुत सारे रंग को पहचान भी सकती है इन्सान की आँखे 10 मिलियन रंगों की पहचान कर सकती है लेकिन सभी इतने रंग नहीं देख सकते मनुष्यों के लिए दुनिया बहुत ही खूबसूरत और रंगीन है लेकिन बहुत से प्राणी ऐसे भी हैं जो कुछ ही रंग देख सकते हैं तो कुछ ऐसे भी हैं जो केवल चुनिन्दा रंग ही देख सकते हैं तो कुछ केवल ब्लैक एंड वाइट ही देख सकते हैं कई पालतू जानवर कलर ब्लाइंड होते हैं यानि इन्हें रंग सही से नहीं दिखाई देते, वही कुछ जीव ऐसे भी हैं वो इंसान से बेहतर देख सकते हैं मधुमक्खियां अल्ट्रावायलेट किरणों को भी देख सकती हैं वहीँ उल्लू रात में बेहतर देख सकता है यहाँ ऐसी ही कुछ तस्वीरें हैं जिसमे दिखाया गया है की इंसानों और दूसरे जीवों को दुनिया कैसी नजर आती है

बाईं ओर बिल्ली की नजर - दाहिनी ओर इंसान की नजर

दोनों को दुनिया बिलकुल अलग नजर आती है

बाईं ओर मधुमक्खी की नजर - दाहिनी ओर इंसान की नजर

 


बाईं ओर चिड़िया की नजर - दाहिनी ओर इंसान की नजर


बाईं ओर रेटलस्नेक की नजर - दाहिनी ओर इंसान की नजर


बाईं ओर कटलफिश की नजर - दाहिनी ओर इंसान की नजर


ऊपर की ओर है गिलहरी की नजर - नीचे की ओर है इंसान की नजर

 

बाईं ओर है इंसान की नजर - दाहिनी ओर है मोर की नजर


बाईं ओर है इंसान की नजर - दाहिनी ओर है कुत्ते की नजर





संबंधित पोस्ट