ख़बरी दोस्त

फिल्म रिव्यू: बैंक चोर

16-Jun-17 17:56फिल्म रिव्यू: बैंक चोर
फिल्म रिव्यू: बैंक चोर

फिल्म- बैंक चोर

डायरेक्टर- बंपी

स्टारकास्ट- रितेश देशमुख, विवेक ओबरॉय, रेहा चक्रवर्ती, भुवन अरोड़ा और विक्रम थापा

 

कहानी

चंपक (रितेश देशमुख) और उनके दो हेल्पर गुलाब (भुवन अरोड़ा) और गेंदा (विक्रम थापा) एक बैंक को हाइजैक करते हैं और सभी को बंधक बना लेते हैं। चंपक का बैंक लूटने का मकसद थोड़ा अलग है। वो अपने पापा की बाईपास सर्जरी के लिए बैंक लूटना चाहता है।सीबीआई ऑफिसर अमजद खान (विवेक ओबरॉय) रितेश देशमुख के प्लान को फेल करना चाहते हैं और कुछ ऐसे डायलॉग बोलते हैं कि 'क्रीमिनल की हड्डियां नहीं तोड़ते.. उनके हिम्मत तोड़ता हूं मैं।' वहीं गायत्री (रेखा चक्रवर्ती) एक न्यूज रिपोर्टर है जो क्राइम सीन का लाइव अपडेट देती है। इन सब के बीच अमजद को समझ आता है कि इन सबके पीछे कुछ भी है और वो लगातार इस मिशन में लगे हुए होते हैं।

 


एक्टिंग

रितेश देशमुख अपनी कॉमिक टाइम और शानदार कॉमेडी के लिए जाने जाते हैं लेकिन इस बार वो भी इस फिल्म में गड़बड़ करते ही नजर आ रहे हैं। इसका कारण हालांकि रितेश देखमुख नहीं बल्कि फिल्म जैसे लिखी गई है वो है। विवेक ओबरॉय जो देश के सबसे अंडररेटेड एक्टर हैं उन्हें फिल्म में सिर्फ अपनी मूछें घुमाते और टफ लुक देते नजर आए हैं।

 


रेहा चक्रवर्ती ने अपना काम बखूबी किया है। भुवन अरोड़ा और विक्रम थापा भी बिल्कुल साइड किरदार हैं जो हम बॉलीवुड फिल्मों में देखते हैं। हालांकि उनका अपना शानदार मोमेंट है। साहिल वैद्य फिल्म में अकेले थ्रिलिंग पार्ट हैं।

 


डायरेक्टर

फिल्म के लिए बम्पी ने कमाल का डायरेक्शन किया है। उनकी सोच गजब की है। उन्होंने फिल्म के लिए जबरदस्त डायलॉग्स का चयन किया है, जो ऑडियंस को खूब हंसाते हैं। फिल्म की सिनेमैटोग्राफी और एडिटिंग की भी तारीफ करनी होगी।

 

म्यूजिक

फिल्म में गानों का कोई स्कोप नहीं है और उनकी कोई जरूरत महसूस नहीं होती। बैकग्राउंड स्कोर अच्छा है।

 


देखें या नहीं

आप बैंक चोर को धूम फ्रेंचाइजी का कजिन भी बोल सकते हैं। फिल्म खूब हंसाती है। एक बार देख सकते हैं। लेकिन इसमें दिमाग लगाने की जरूरत बिल्कुल भी नहीं है।

 

ट्रेलर देखें-

 




संबंधित पोस्ट