ख़बरी दोस्त

जानते है पैर क्यों सो जाते है

ऐसा हम सब के साथ कई बार होता है कि जब हम पैर मोड़ कर बैठे होते है और वो सो जाता है यानि उसमे तेज़ झनझनाहट होने लगती है। लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि इस क्यों होता है?? नहीं न ! तो चलिए आज हम आपको बताते है कि ये किस वजह से होता है।

यह सब कुछ हमारे नर्वस सिस्टम की प्रक्रिया है हमारा पूरा शरीर हमारे दिमाग से जुड़ा हुआ है जिसकी वजह से जब भी शरीर में कोई भी प्रतिक्रिया होती है तो यह सन्देश हमारी धमनियों के द्वारा दिमाग तक पहुँच जाता है। लेकिन अब आप सोच रहे होंगे की इसका आपके पैर के सोने से क्या लेना देना है तो आपको बता दें जब भी इन धमनियों पर दबाव पड़ता है तो इनका संपर्क दिमाग से टूट जाता है।

लेकिन जैसे ही यह दबाव हटता है तो यह धमनियां दिमाग को एक समय में कई सारे सन्देश भेजना शुरू कर देते है जिस वजह से वहाँ सुई चुभने जैसी प्रतिक्रिया महसूस होने लग जाती है। यह एहसास ज़्यादा समय तक भी नहीं रहता है इसकी अवधी पांच से दस मिनट की होती है। लेकिन अगर आपका पैर सो गया है तो इसका मतलब यह नहीं है कि खून का दौड़ान ही रुक गया है। ऐसा बिलकुल नहीं है क्योँकि अगर खून का दौड़ान ही रुक गया तो आपका पैर ही ख़राब हो जाएगा। पैर का सोना एक शारीरिक प्रक्रिया है इसका खून के बहाव से कोई लेना देना नहीं है।




संबंधित पोस्ट


शीर्ष पोस्ट और पन्ने


कैसे पहचाने 10 के नकली सिक्के को
बाहुबली-2 में भल्लाल देव की है जबरदस्त बॉडी
जल्द ही बंद होंगे दो हज़ार के नोट
जानें भोजपुरी एक्ट्रेसेस फिल्म के लिए कितनी फीस लेती हैं
पढ़िए अखिलेश और डिंपल की लव स्टोरी के बारे में
दंगल में हुई चार बड़ी गलतियां
ये है इंडिया के सबसे खतरनाक एनकाउंटर स्पेशलिस्ट
जानते हैं प्रधानमंत्री के बॉडीगार्ड्स के ब्रीफ़केस में क्या होता है

हाल की पोस्ट


ये स्टार्स करते हैं इन ब्रांड्स को प्रमोट
जानें 'द कपिल शर्मा शो' के मेंबर्स की फीस
किसी काम के नही शरीर के ये अंग
ये हैं दुनिया के सबसे विवादित फूड्स, पाबंदी के बाद भी खाते हैं लोग
इन फिल्मों को देखने के बाद किसी को आया अटैक तो किसी की हुई मौत
ये हैं देश के पानी के सबसे महेंगे ब्रांड्स
दुनिया के इन देशों में क्या है रेप की सजा, जानें
IRCTC ने जारी की खाने की नई लिस्ट