ख़बरी दोस्त

अब पटरी पर चलेंगी पेप्सी या कोक शताब्दी

अब जल्दी ही आप "पेप्सी राजधानी" या "कोक शताब्दी" जैसी ट्रेनों से रूबरू हो जाएंगे। रेल मंत्रालय किराया या रेल भाड़ा बढ़ाए बिना रेवेन्यू बढ़ाने की कोशिशों के तहत अब ट्रेन्स और स्टेशनों की ब्रान्डिंग करने जा रही है। इसके तहत ट्रेन या स्टेशन के नाम के आगे कंपनी का ब्रांड जुड़ जाएगा। रेलवे अपने इस प्रोजेक्ट को लेकर पूरी तरह तैयार है। माना जा रहा है कि अगले सप्ताह रेलवे बोर्ड की बैठक में इसे मंजूरी मिल जाएगी।

बताया गया है कि अब कोई भी कंपनी या ब्रांड ट्रेन के पूरे मीडिया राइट्स खरीद लेगी। इसके बाद वह ट्रेन की बोगियों के अंदर और बाहर अपने हिसाब से अपना प्रचार करने को स्वतंत्र होगी। स्टेशनों के राइट्स बड़े कॉरपोरेट घरानों को दिए जाएंगे। भारतीय रेल बीमा, किराया या माल भाड़ा बढ़ाए बिना करीब 2 हजार करोड़ रूपए साला आय बढ़ाने की सोच रहा है। रेलवे पिछले साल चार ट्रेनों के बाहर विज्ञापन के अधिकार एक कंपनी को दिए थे। इससे रेलवे को प्रतिवर्ष 8 करोड़ रूपए सालाना की आय होगी।




संबंधित पोस्ट


शीर्ष पोस्ट और पन्ने


कैसे पहचाने 10 के नकली सिक्के को
बाहुबली-2 में भल्लाल देव की है जबरदस्त बॉडी
जल्द ही बंद होंगे दो हज़ार के नोट
सनी लियोनी का भाई की शादी में ऐसा था अंदाज
ये है इंडिया के सबसे खतरनाक एनकाउंटर स्पेशलिस्ट
दंगल में हुई चार बड़ी गलतियां
पढ़िए अखिलेश और डिंपल की लव स्टोरी के बारे में
TV पर बार-बार क्यों आती है सूर्यवंशम

हाल की पोस्ट


ये बड़े अविष्कार हुए गलती से
श्रीलंका में अब भी हैं रामायण से जुड़ी जगहे
कड़ाके की ठण्ड में भी गर्म रहता है इस हॉट स्प्रिंग्स का पानी
इन बुजुर्गों की जिंदादिली को सलाम
ये हैं दनिया की सबसे अमीर महिलाएं
8 साल में कैसा रहा व्हाइट हाउस में ओबामा परिवार का सफ़र, जानें
ये हैं इतिहास के सबसे अमीर लोग
जानते हैं महाभारत में कौन किसके अवतार थे