ख़बरी दोस्त

गोवा के इस बीच पर बसा है मिनी रशिया

देश में अलग-अलग राज्यों और शहरों को कुछ खास नाम से भी जाना जाता है। उदाहरण के लिए छत्तीसगढ़ को "धान का कटोरा" जयपुर को "गुलाबी शहर" तो इंदौर को "मिनी मुंबई" कहा जाता है। इन राज्यों में ऐसी कुछ खासियतें होती हैं जिनकी वहज से इन्हें यह नाम मिलते हैं। गोवा के एक छोटे से गाँव को भी अपनी कुछ खासियतें के कारण "लिटिल रशिया" नाम दिया गया है। गोवा इतनी खूबसूरत जगह है कि यहाँ पर्यटकों का आना जाना लगा रहता है। यहाँ बड़ी संख्या में पर्यटक आते हैं और कुछ लोग यहाँ बस भी जाते हैं। ऐसा ही कुछ गोवा के इस गाँव में भी हुआ और इसका नाम "लिटिल रशिया" पड़ गया। तो आइये देखते हैं "लिटिल रशिया" की कुछ तस्वीरें....

गोवा का खूबसूरत गाँव मोरजिम

मोरजिम गोवा के पेरनेम शहर में स्थित है। यह गाँव चपोरा नदी के उत्तरी तट पर बसा है। राजधानी पणजी से इस गांव की दूरी 30 km है। यहाँ बड़ी संख्या में अप्रवासी रशियन्स बसते हैं और यहाँ आमतौर पर रशियन भाषा ही बोली जाती है, इसलिए इसे 'लिटिल रशिया' भी कहा जाता है।

60-70 से भारत आ रहे रशियन हिप्पीज

1960-70 के दौरान गोवा में अमेरिकी और रूसी हिप्पीज भारत में आना शुरू हुए और उनमे से कई गोवा में ही बस गए। कुछ समय बाद इन अमेरिकी और रूसी हिप्पीज में विवाद बढ़ने लगा तो आपसी समझौते से अमेरिकी हिप्पीज दक्षिण और मध्य गोवा में चले गए और रूसी हिप्पीज उत्तरी गोवा में आकर बसने लगे। तभी से ही मोरजिम में भारी तादाद में रशियन बस रहे हैं।

15 से ज्यादा रेस्टोरेंट्स तो रशियन ही चलाते है

इस छोटे से गाँव में 15 रेस्टोरेंट्स तो रशियन ही चलाते हैं। वही यहाँ ज्यादा मात्रा में रशियन डिशेस ही मिलती हैं। इतना ही नही यहाँ के होटल्स, बीचेज और रेस्टोरेंट्स में होर्डिग्स भी रशियन भाषा में लगे हुए हैं।

रशियन माफिया का है बोलबाला

यहाँ रशियन लोगों के बसे होने के बारे में एक नकारात्मक बात यह है कि बड़ी संख्या में रशियन माफिया भी हैं। जो इस गाँव की आबो-हवा को बिगाड़ रहे हैं। इन लोगों को इनके ख़राब व्यवहार, अश्लील पहनावा, रेव पार्टीज और अन्य अपराधिक मामलों में लिप्त होने के कारण भी इन्हें ना पसन्द किया जाता है। इस तरह के मामलों में ये रशियन कई दफ़ा जेल की हवा भी खा चुके हैं।

मोरजिम बीच है आकर्षण केंद्र

गोवा का ये प्यारा सा गांव अपने 'मोरजिम बीच' के कारण मशहूर है। गोवा के अन्य बीचों की तरह ही यह बीच भी बेहद खूबसूरत है।

मोरजिम बीच पर भी देखने को मिलेंगे रशियन भाषा के होर्डिंग्स

कछुओं के लिए जाना जाता है यह बीच

गोवा का मोरिजम बीच कछुओं की विलुप्त हो रही 'ओलिव रिडले' प्रजाति के कछुओं का बसेरा और प्रजनन स्थान है। आपको यहाँ ये कछुए एक साथ झुण्ड में देखने को मिलेंगे।  इन कछुओं को कानूनी रूप से सुरक्षा दी गई है ताकि इन्हें विलुप्त होने से बचाया जा सके।

देखो जैसे कोई कारवां बन चला हो

गोवा के इस बीच को 'टर्टल बीच' के नाम से भी जाना जाता है। इस तस्वीर में इन कछुओं की टोली इस नाम को सार्थक भी कर रही है।

 




संबंधित पोस्ट


शीर्ष पोस्ट और पन्ने


कैसे पहचाने 10 के नकली सिक्के को
बाहुबली-2 में भल्लाल देव की है जबरदस्त बॉडी
जल्द ही बंद होंगे दो हज़ार के नोट
सनी लियोनी का भाई की शादी में ऐसा था अंदाज
ये है इंडिया के सबसे खतरनाक एनकाउंटर स्पेशलिस्ट
दंगल में हुई चार बड़ी गलतियां
पढ़िए अखिलेश और डिंपल की लव स्टोरी के बारे में
TV पर बार-बार क्यों आती है सूर्यवंशम

हाल की पोस्ट


पाकिस्तान के इस मंदिर में हिंदू-मुस्लिम एक साथ करते हैं पूजा
जानते हैं जनवरी से दिसम्बर तक नामों का रहस्य
बिना मेकअप ऐसी दिखती हैं साउथ एक्ट्रेसेस
जानिए FIR से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य
बैन होने के बावजूद भी भारत में खेले जाते हैं ये खूनी खेल
ठण्ड में इन गाड़ियों का हुआ बुरा हाल
क्रेडिट कार्ड का सही इस्तेमाल ऐसे करें
जानें भोजपुरी एक्ट्रेसेस फिल्म के लिए कितनी फीस लेती हैं