ख़बरी दोस्त

डिशूम फिल्म रिव्यू

फिल्म: डिशूम डायरेक्टर: रोहित धवन स्टारकास्ट: जॉन अब्राहम (कबीर), वरूण धवन (जुनैद), जैकलीन फर्नांडीज़ (इशिका),  अक्षय खन्ना (समीर जोशी), साकिब सलीम (विराज शर्मा) डिशूम फिल्म में वो सब कुछ है जो आजकल दर्शक चाहते हैं  मतलब रोमांस, कॉमेडी, मार धाड़, एक्शन, सस्पेंस और सबसे अच्छी बात है कि इस फिल्म में एक आइटम सोंग भी है जो परिणीती चोपड़ा द्वारा दर्शाया गया है। dishoom-poster-759

कहानी

फिल्म की कहानी इस प्रकार है कि भारत का टॉप बैट्समैन विराज शर्मा (साकिब सलीम) नाम के क्रिकेटर का किडनैप हो जाता है जिसमे भारत सेमी फाइनल में श्रीलंका को सेमी फाइनल में हराकर  फाइनल में जगह बनाता है जहाँ फाइनल में भारत को पाकिस्तान से सामना करना होता है और यह फाइनल मैच अगले 36 घंटो में होने वाला होता है और उस किडनैपर को पकड़ने के लिए भारत के एक ऑफिसर कबीर (जॉन अब्राहम) और यूएई का ऑफिसर जुनैद (वरूण धवन)  को यह केस दिया जाता है। फिल्म का सबसे बेहतरीन हिस्सा हैं अक्षय कुमार का जबरदस्त कैमियो जहाँ आपको काफी मज़ा देगा और वहीँ अक्षय खन्ना का निगेटिव किरदार भी बखूबी निभाया है।

अभिनय

वरुण धवन जिसके लिए प्रसिद्ध हैं उन्होंने वही रोल इस फिल्म में भी निभाया है मतलब कॉमेडी, ओवर एक्टिंग वरुण पर जचती है लेकिन वरुण का यह रोल देख कर लोग पकाऊ हो चुके होंगे शायद। अब बात जॉन अब्राहम की, तो वो कॉप बनकर हमेशा अच्छे लगते हैं। इमोशन की उनकी ज़िंदगी में कोई जगह नहीं है और ये बात उनके लिए उनका रोल आसान कर देती है। क्योंकि फिल्म में भी उनके चेहरे पर ज़्यादा इमोशन नहीं नज़र आएगा। जैकलीन फर्नांडीज़ ने फिल्म में काफी हद तक कैटरीना कैफ को कॉपी करने की कोशिश की है पर वो अच्छी भी लगी हैं। लेकिन फिल्म में उनके रोल की बात करें तो उनका ज़्यादा कोई काम नहीं है, सिवाय एक गाने के (सौ तरह के) । जितना भी रोल उन्हें दिया गया, उन्होंने बखूबी किया है। अक्षय खन्ना जब भी निगेटिव किरदार में आते हैं तो शानदार रूप से छाप छोड़ते हैं। रेस के बाद इस फिल्म से उनकी शानदार वापसी हो सकती थी, पर फिल्म की कमियों के कारण शायद ऐसा ना हो पाए लेकिन उन्होंने अपने रोल को बखूबी निभाया है।

स्टारकास्ट

नरगिस फखरी का ग्लैमर, लोगों को अच्छा लगेगा। वहीं अक्षय कुमार का गे किरदार आपको बेहद पसंद आएगा। साकिब सलीम भी भारत के बेस्ट बल्लेबाज़ बने हुए अच्छे लगे हैं जबकि सुषमा स्वराज के किरदार में मोना अंबेगांवकर जितनी भी देर स्क्रीन पर थीं बेहतरीन थीं। अंत में परिणीति का जानेमन आपको फिल्म की सारी कमियां थोड़ी देर के लिए ही सही पर भुला देगा। dishoom4-29-1469774341

देखें या नहीं

अगर आप मसाला, कॉमेडी और एक्शन फिल्म के शौक़ीन हैं तो आप एक बार फिल्म जरुर देख सकते हैं एक बार देखने में कोई बुराई नहीं है।




संबंधित पोस्ट


शीर्ष पोस्ट और पन्ने


कैसे पहचाने 10 के नकली सिक्के को
बाहुबली-2 में भल्लाल देव की है जबरदस्त बॉडी
जल्द ही बंद होंगे दो हज़ार के नोट
सनी लियोनी का भाई की शादी में ऐसा था अंदाज
ये है इंडिया के सबसे खतरनाक एनकाउंटर स्पेशलिस्ट
दंगल में हुई चार बड़ी गलतियां
पढ़िए अखिलेश और डिंपल की लव स्टोरी के बारे में
TV पर बार-बार क्यों आती है सूर्यवंशम

हाल की पोस्ट


ये बड़े अविष्कार हुए गलती से
श्रीलंका में अब भी हैं रामायण से जुड़ी जगहे
कड़ाके की ठण्ड में भी गर्म रहता है इस हॉट स्प्रिंग्स का पानी
इन बुजुर्गों की जिंदादिली को सलाम
ये हैं दनिया की सबसे अमीर महिलाएं
8 साल में कैसा रहा व्हाइट हाउस में ओबामा परिवार का सफ़र, जानें
ये हैं इतिहास के सबसे अमीर लोग
जानते हैं महाभारत में कौन किसके अवतार थे